Daily World Exclusive: चीन की तर्ज पर महंगे लोन देकर लूटता था रामलाल

Daily


■ चंडीगढ़, पंजाब और हरियाणा में मिली अरबों की संपत्ति ■ 50 लाख से 6 करोड़ तक की 63 संपत्तियों की जांच पूरी ■ संपत्ति के लिए गुंडों और पुलिस का करता था इस्तेमाल अमिता शुक्ला / चंडीगढ़ मॉडल, साजिश और कत्ल के बूते ट्राईसिटी में अपनी काली दुनिया बनाने वाले रामलाल ने पंजाब, हरियाणा और चंडीगढ़ में चंद सालों में ही अरबों रुपये की 63 संपत्तियां बनाईं। उसकी संपत्तियां 50 लाख से 6 करोड़ रुपये से अधिक की कीमत की थीं। चंडीगढ़ के प्राइम सेक्टर्स में उसने अपने रसूख का इस्तेमाल करके ये संपत्तियां हासिल की थीं। यही नहीं, वह जिन पुलिस वालों की मलाईदार पदों पर तैनाती करवाता था, उनका इस्तेमाल अपने काले धंधे के लिए भी करता था। कई बिल्डर्स को उसने अपने जाल में फंसाकर करोड़ों रुपये के फ्लैट्स हासिल किये। इसमें नामचीन बिल्डर्स भी शामिल हैं। पिछले सप्ताह चंडीगढ़ पुलिस ने गुरुग्राम के अतुल्य शर्मा की शिकायत पर रामलाल को गिरफ्तार किया गया था। जांच के दौरान पुलिस को उसके पास से 538 ब्लैंक चेक मिले, जिनकी जांच के लिए चेक दाताओं को नोटिस भेजे गये हैं। तमाम संपत्तियों के कागजात मिले थे। पुलिस ने रामलाल के लॉकर सील करने के लिए बैंकों को भी चिट्ठियां भेजी हैं। रामलाल ने जो संपत्तियां हथियाईं, उनको अपनी पत्नी और परिजनों के नाम सेल डीड के जरिए हासिल कीं। उसने सिर्फ आवासीय संपत्तियां ही नहीं हथियाईं बल्कि कामर्शियल संपत्तियां भी हासिल कीं। दर्जन भर बूथ भी उसने कब्जाये और उन्हें अपने और परिजनों के नाम करवा लिया। किस तरह की हैं संपत्तियां रामलाल चौधरी ने जिन 63 संपत्तियों को हासिल किया, उनमें साढ़े छह करोड़ की एक कोठी सेक्टर-46ए चंडीगढ़ में है, तो रोहतक में 10 करोड़ रुपये की तीन संपत्तियां भी हैं। चंडीगढ़ के सेक्टर-48सी में उसने साढ़े तीन करोड़ की संपत्ति अपने एक रिश्तेदार के नाम पर कब्जाई। कंसल में भी उसने तीन करोड़ रुपये की एक संपत्ति अपने बेटे के नाम पर हासिल की। खरड़ में दो करोड़ रुपये कीमत की दो संपत्तियां हथियाईं। चंडीगढ़ के खुड्डाअलीशेर में भी उसने सवा करोड़ रुपये की एक संपत्ति अपने बेटे के नाम पर ली। वहीं उसने साढ़े चार करोड़ रुपये की दो संपत्तियां भी बेटे के नाम पर कराईं। कंसल में उसने साढ़े तीन करोड़ की एक संपत्ति बेनामी तरीके से कब्जाई हुई है। ये चंद संपत्तियां सिर्फ नजीर हैं। ऐसी दर्जनों संपत्तियों का ब्यौरा पुलिस को मिला है। उनका फिजिकल वेरीफिकेशन पुलिस ने कर लिया है। चीन की मॉडस अपरेंडी अपनाता था रामलाल चीन जिस तरह से प्राकृतिक संपदा वाले तमाम देशों को कर्ज देकर पहले दोस्त बनाता है और फिर उसको आर्थिक संकट में डालकर उनकी संपत्तियों पर कब्जाता है। बिल्कुल उसी तरह रामलाल भी तमाम बिल्डरों, व्यवसायियों और लोगों को उनकी जरूरत के वक्त आर्थिक मदद देता और फिर अचानक धन वापस मांगता। जब वो नहीं दे पाने की हालत में होते, तो उसपर भारी भरकम ब्याज लगा देता था। कुछ दिनों बाद वही धन ब्याज सहित वसूलने के लिए गुंडों और पुलिस का इस्तेमाल करता था। कई बार किसी को फंसाने के लिए हनीट्रैप भी लगाता था। रामलाल के जाल में फंस चुके लोगों को उसकी बात मानने के लिए मजबूर होना पड़ता था। इस काम में पुलिस अफसरों, राजनीतिज्ञों और रसूखदारों का वह सलीके से इस्तेमाल करता था। पुलिस रिमांड में उगल रहा है तमाम राज ठगी का आरोपी रामलाल चौधरी इस वक्त चंडीगढ़ पुलिस की एसआईटी के पास सात दिनों की रिमांड पर है। वह पुलिस के सामने तमाम राज खोल रहा है। एसआईटी चीफ देवेंद्र शर्मा उसकी निशानदेही पर तमाम दस्तावेज और संपत्तियों का ब्यौरा बरामद कर रहे हैं। उसके तमाम बड़ों से कनेक्शन और लेनदेन के भी सबूत हासिल हो रहे हैं। यह भी पता चल रहा है कि किन अफसरों, नेताओं की काली कमाई उसके धंधे में लगी हुई थी। Details of Properties https://dailyworld.in/news-detail.php?seq=172996&news=Details%20of%20Properties




Related

Clubhouse hate chat: Delhi Police quizzes six, including two women, minor
By Ujwal Jalali New Delhi, Jan 23 : Six persons who took part in the Clubhouse conversation where obscene and derogatory remarks were made against

Amid rising Covid cases, anti-vaccine protesters rally in Meghalaya
Shillong, Jan 23 : Amid the surge of Covid-19 cases in Meghalaya, anti-vaccination protesters organised a rally in the capital city Shillong against t

Punjab polls: Congress yet to reach a consensus on two-dozen seats
New Delhi, Jan 23 : Due to the differences between Punjab Chief Minister Charanjit Singh Channi and state Congress chief Navjot Singh Sidhu, the party